आप ब्राउज़र के पुराने संस्करण का उपयोग कर रहे हैं. MSN का सर्वश्रेष्ठ अनुभव प्राप्त करने के लिए, कृपया किसी समर्थित संस्करण का उपयोग करें.

सर्जिकल स्ट्राइक: कुत्ते न भौंके इसलिए तेंदुए की यूरिन ले गए, इससे ऑपरेशन सफल रहा

दैनिक भास्कर लोगो दैनिक भास्कर 12-09-2018 DainikBhaskar.com
a man wearing a uniform © DainikBhaskar.com

- उड़ी सैन्य शिविर पर आतंकी हमले में 21 जवान शहीद हुए थे, सर्जिकल स्ट्राइक जवाबी कार्रवाई थी

पुणे. उड़ी आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने 29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में सर्जिकल स्ट्राइक की थी। इस ऑपरेशन की अगुआई करने वाले लेफ्टिनेंट जनरल आरआर निम्भोरकर ने ऑपरेशन से जुड़ा एक किस्सा सुनाया।

(Video- बाढ़ में डूब रहे थे, भगवान बन कर आयी सेना!- इसे आज तक ने प्रोवाइड किया है)

वीडियो पुन: चलाएँ

निम्भोरकर ने मंगलवार को पुणे में एक कार्यक्रम में बताया, "हमें पूरी आशंका थी कि जब हम कार्रवाई करेंगे तो जंगली कुत्ते हम पर भौकेंगे। लेकिन मुझे ये पता था कि कुत्ते तेंदुए से डरते हैं। इसलिए हम अपने साथ तेंदुए की यूरिन ले गए। हमारी योजना सफल रही। कुत्ते आगे आने से भी डरते रहे।"  

(Video- 12 हजार आतंकियों को खत्म करने वाले वीरों की कहानी - इसे आज तक ने प्रोवाइड किया है)

वीडियो पुन: चलाएँ

तीन किलोमीटर घुसकर आतंकी ठिकाने किए थे ढेर : 18 सितंबर 2016 को उड़ी में सैन्य शिविर पर आतंकी हमला हुआ। 21 जवान शहीद हुए। 11 दिन बाद 29 सितंबर को भारतीय सेना ने एलओसी पार कर तीन किलोमीटर अंदर तक जाकर आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई की। सर्जिकल स्ट्राइक में रॉकेट लॉन्चर, मिसाइल और छोटे हथियार इस्तेमाल किए गए। इसी साल जून में सर्जिकल स्ट्राइक का एक वीडियो भी सामने आया था।

(Video- आधुनिक तकनीक से अपडेट होगी भारतीय सेना- इसे आज तक ने प्रोवाइड किया है)

वीडियो पुन: चलाएँ

दैनिक भास्कर ऐप के साथ हमेशा अपडेट रहें। हिंदी में ताजा समाचार पढ़ने के लिए ऐप डाउनलोड करें

दैनिक भास्कर हिंदी पर और पढ़ें

दैनिक भास्कर
दैनिक भास्कर
image beaconimage beaconimage beacon