आप ब्राउज़र के पुराने संस्करण का उपयोग कर रहे हैं. MSN का सर्वश्रेष्ठ अनुभव प्राप्त करने के लिए, कृपया किसी समर्थित संस्करण का उपयोग करें.

खुशखबरी: सभी कॉलेज के छात्र प्रधानमंत्री फेलोशिप के लिए आवेदन कर सकेंगे

हिन्दुस्तान लोगो हिन्दुस्तान 29-08-2018 नई दिल्ली, स्कन्द विवेक

प्रतीकात्मक तस्वीर © नई दिल्ली, स्कन्द विवेक प्रतीकात्मक तस्वीर

इंजीनियरिंग और विज्ञान की पढ़ाई कर रहे छात्र-छात्राओं के लिए अच्छी खबर है। अगले साल से किसी भी कॉलेज से इंजीनियरिंग या एमएससी कर रहे छात्र प्रधानमंत्री रिसर्च फेलोशिप (पीएमआरएफ) के लिए आवेदन कर सकेंगे। इसी साल शुरू हुई इस फेलोशिप के लिए अब तक सिर्फ राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों- आईआईएससी, आईआईटी, एनआईटी और आईआईएसईआर से पढ़ाई करने वाले छात्र ही आवेदन कर सकते थे। 

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक, पीएमआरएफ के पहले वर्ष उम्मीद से कहीं कम आवेदन मिलने के बाद अब कार्यक्रम की समन्वयक संस्था आईआईटी हैदराबाद ने इसे सभी इंजीनियरिंग एवं एमएससी छात्रों के लिए ओपन करने का प्रस्ताव भेजा है। ‘हिन्दुस्तान’ ने इस प्रस्ताव को देखा है। इसमें राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों के अलावा किसी अन्य कॉलेज से इंजीनियरिंग या एमएससी करने वाले छात्रों के लिए न्यूनतम गेट स्कोर 750 रखने का प्रस्ताव दिया गया है। राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों के छात्रों के लिए पीएमआरएफ में आवेदन करने के लिए सीजीपीए 8.0 होना जरूरी होता है। सूत्रों के मुताबिक, मंत्रालय इस प्रस्ताव से सहमत है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मंजूरी मिलने के बाद इन प्रस्तावों को लागू कर दिया जाएगा। 

देश में उच्चस्तरीय शोध को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई फेलोशिप के तहत चुने गए बीटेक, एमटेक या एमएससी के छात्रों को आईआईटी और आईआईएससी में पीएचडी कार्यक्रम में सीधा प्रवेश दिया जाता है। 

80 हजार रुपये तक प्रति माह मानदेय 

शोधार्थियों को पहले 2 वर्ष 70,000 रुपये प्रति माह, तीसरे वर्ष 75,000 रुपये प्रति माह और चौथे-पांचवें वर्ष 80,000 रुपये प्रति माह मानदेय मिलता है। इसके अलावा, शोधार्थी को अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों और सेमिनारों में शोध पत्र प्रस्तुत करने के लिए प्रति वर्ष 2 लाख रुपये का शोध अनुदान भी दिया जाता है। 

पहले साल मात्र 135 छात्रों का चयन

हालांकि, इतने आकर्षक मानेदयों के बावजूद पहले साल ये योजना अधिक छात्रों को आकर्षित करने में कामयाब नहीं हो सकी। करीब एक हजार छात्रों को फेलोशिप देने के लक्ष्य के साथ शुरू हुई इस योजना के लिए पहले साल मात्र 135 छात्रों का ही चुनाव किया जा सका।

BJP का दावा - 2019 लोकसभा चुनाव में जीतेंगे 2014 से भी ज्यादा सीटें

भीमा कोरेगांव हिंसा : पुलिस ने देशभर में की छापेमारी, 5 लोग गिरफ्तार

हमारी WhatsApp सेवा से जुड़ने के लिए +918375860084 पर “HI” भेजें। वायदा रहा हम आपको केवल काम की खबरें भेजेंगे, स्पैम नहीं।


Liveहिन्दुस्तान.comकी अन्य खबरें

हिन्दुस्तान
हिन्दुस्तान
image beaconimage beaconimage beacon