आप ब्राउज़र के पुराने संस्करण का उपयोग कर रहे हैं. MSN का सर्वश्रेष्ठ अनुभव प्राप्त करने के लिए, कृपया किसी समर्थित संस्करण का उपयोग करें.

RAW एजेंट कैसे बनें? जानें आवश्यक योग्यता, चयन प्रक्रिया, वेतन एवं अन्य सुविधाएं

Jagran Josh लोगो Jagran Josh 19-08-2018 Prashant Kumar
© Jagran Prakashan Ltd. द्वारा प्रदत्त

यदि आपको रोमांच पसंद है एवं देश की सेवा करने का भी जुनून है तो आप भारतीय सुरक्षा एजेंसी रॉ में को अपना करियर बना सकते हैं. वैसे नाम एवं ख्याति पाने के इच्छुक युवाओं के लिए यह फील्ड नहीं है क्योंकि यहां ऐसे युवाओं की जरूरत होती है जो अपनी पहचान छिपाकर कार्य करते हैं साथ ही इस जॉब्स में आने पर अपने कार्य संबंधी जानकारी भी छिपाकर रखनी पड़ती है. यह एक तरह से जासूसी का कार्य है. रॉ (RAW), का फुल फार्म अनुसंधान (रिसर्च) और विश्लेषण (एनालायसिस) विंग है. भारतीय रॉ विभाग में शामिल होने के लिए कोई डायरेक्ट भर्ती परीक्षा नहीं होती है.

(Video- 50 साल बाद अपने जासूस की घड़ी MOSSAD ने ढूंढ निकाली- इसे मोबाइल तक ने प्रोवाइड किया है)

सबसे पहले आपको रक्षा क्षेत्र या भारतीय सिविल सेवा विभाग में शामिल होना होगा, इन विभागों में अच्छा अनुभव प्राप्त करने के बाद और क्षेत्र में अच्छा करियर बनाने के बाद,  आपको एक इंटरव्यू देना होगा. इस इंटरव्यू में सफल होने के बाद आप रॉ विभाग के लिए पात्र माने जायेंगे.

75000+ सरकारी नौकरियां आजादी के मौके पर: आर्मी, नेवी, रक्षा मंत्रालय एवं पैरामिलिट्री में

रॉ इंडिया एजेंट और इंटेलिजेंस ऑफिसर के पद में उच्च पद के उन अधिकारियों को विदेश- भारत में काम करने के लिए एक गुप्त एजेंट के रूप में नियुक्त करता है जो राष्ट्रीय स्तर की सेवा में हें और मुख्य रूप से रक्षा और सुरक्षा के दौरान और अधिकांश समय - आईपीएस अधिकारियों, केंद्रीय खुफिया अधिकारी, सीआईडी अधिकारियों, भारत के आतंकवादियों के प्रमुख - आईएमए, आईएनए, एएफए के तौर पर कार्यरत हों. रॉ विभाग आम तौर पर सिविल सेवा विभाग या पुलिस विभाग से उम्मीदवारों का चयन करता है. इन दिनों रॉ विभाग उम्मीदवारों की सीधे स्नातक स्तर से भर्ती कर रहा है. यदि आप स्नातक स्तर के बाद रॉ क्षेत्रों में शामिल होना चाहते हैं, तो आपके पास कुछ विशेष गुण होने चाहिए. जैसे:

  • कंप्यूटर हैकिंग
  • विशेष कार्य कौशल
  • इंटरनेट में गति और अनस्टारिंग (unstaring) आदि में महारथ हासिल होनी चाहिए.

(Video- 93 साल की जासूस ने अब भी छुपा रखे हैं राज़- इसे BBC हिंदी ने प्रोवाइड किया है)


ऐसे स्नातकों को आसानी से भारतीय रॉ डिपार्टमेंट में जगह मिल सकती है. इसके अलावा आप भर्ती के लिए ऊपर दिए गए प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं. भारतीय रॉ विभाग में शामिल होने के बाद, ऐसे उम्मीदवार आतंकवाद जैसी स्थिति में काम करते हैं और किसी भी प्रकार के सीक्रेट ऑपरेशन की तरह काम करते है. रॉ विभाग में वेतन के बारे में चिंता नहीं करें उम्मीदवारों को अधिकतम वेतन की राशि दी जाती है.

योग्यता मानदंड-

उम्र:

19 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

शैक्षणिक योग्यता:

आवेदकों को मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक/स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त होनी चाहिए.

वैवाहिक स्थिति:

आवेदक को अविवाहित होना चाहिए.

नेशनेलिटी:

अभ्यर्थी भारतीय होना चाहिए

(फोटो- जेम्स बॉन्ड की टॉप-10 फिल्में- इसे DW वर्ल्ड हिंदी ने प्रोवाइड किया है)

चयन प्रक्रिया-

1) लिखित

2) साक्षात्कार

3) मेडिकल

शारीरिक सहनशक्ति और चिकित्सा मानक परीक्षण (फिजिकल स्टेमिना एंड मेडिकल स्टेंडर्ड टेस्ट):

बेसिक मानदंड:

याद रखिए इंटेलीजेंस एजेंसीज की इंटेलीजेंस ऑफिसर के अलावा कई अन्य भूमिकाएं हैं. अनुवादक, विश्लेषक, और आईटी में काम करना कम ग्लैमरस हैं, लेकिन बेहद महत्वपूर्ण है.

रॉ एजेंट बनने के लिए बेसिक आवश्यकताएं:

  • किसी भी प्रकार का आपराधिक रिकॉर्ड होने से आपके आवेदन के निरस्त  होने की संभावना होती है.
  • आवेदकों को  ड्रग परीक्षण ये गुजरना होता है. मादक पदार्थों की लत बर्दाश्त नहीं की जाती है.
  • आरएंडएडब्ल्यू सहित अधिकांश खुफिया संगठनों की उम्मीद होती है कि उनके अधिकारियों को अच्छी शिक्षा मिले.
  • अधिकांश एजेंटों को विदेशों की यात्रा करनी पड़ती है. यात्रा के बिना भी भूमिकाएं होती हैं लेकिन इससे आपके मौके सीमित हो जाते हैं.
  • आपको अपने देश का नागरिक होना चाहिए और आपके परिवार के बाकी सदस्यों को भी इसे समझना चाहिए.

तो ये हैं मूल मानदंड हैं,  लेकिन रॉ में नौकरी मिलना बहुत प्रतिस्पर्धा भरा है, तो आपको दूसरों से हटकर खड़ा होने के लिए और कुछ करने की आवश्यकता होगी. यहां कुछ सुझाव दिए जा रहे हैं:

एडवासं क्राइटेरिया:

-कोई भी एक विदेशी भाषा सीखें, खासकर अपने देश के शत्रुओं की भाषा को प्राथमिकता दें. इससे भी बेहतर, एक अपेक्षाकृत अस्पष्ट भाषा सीखें – ऐसे कम प्रतियोगिता होते हैं.

-खेलें-कूदें और फिट रहें, फिट रहने से कोई नुकसान नहीं है, और इससे आपका सीवी भी प्रभावशाली होगा.

(फोटो- जासूस से लेकर आतंकी तक, बातचीत के लिए किन कोड वर्ड का करते हैं यूज?- इसे दैनिक भास्कर ने प्रोवाइ़ड किया है)

-अपने दोस्तों को अपने आवेदन के बारे में मत बताइए. जासूसी करना विवेक से परिपूर्ण होता है, यदि आप अपने दोस्तों को अनजान नहीं रख सकते, तो आप इसे नहीं कर सकते हैं.

-दिखाएँ कि आप लंबे समय तक काम कर सकते हैं, ऐसी नौकरी करें जो आपके अनुशासन और प्रतिबद्धता को दर्शाती है. जासूस होना 9-5 की नौकरी नहीं है.

-लीडरशिप दिखाएं, सैन्य सेवा यहां एक फायदा हो सकती है.

-कुछ भी छिपाओ मत, यदि आप एक बार ड्रग्स के साथ पकड़े गए हैं या आपको छोटी सी सजा मिली है तो वे पता लगा लेंगे, और अगर आप इसे छिपाने की कोशिश करेंगे तो वे सोचेंगे कि आप अविश्वसनीय हैं.

आवेदन कैसे करें:

अनुसंधान और विश्लेषण विंग (रॉ) की कोई वेबसाइट नहीं है, इसलिए उनका एजेंट बनने के लिए आवेदन करना कठिन है. हालांकि, उप क्षेत्र अधिकारी, कैबिनेट सचिवालय, भारत सरकार के रूप में विज्ञापित की गई नौकरियों को आर एंड ए के लिए भर्ती माना जाता है. नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन के जरिए प्रवेश संभव हो सकता है.

दिखाने और देने होंगे प्रमाण:

  • पारिवारिक पृष्ठभूमि
  • नशीली दवाओं के उपयोग और किसी अन्य व्यसन (उदाहरण- जुआ)
  • मानसिक स्वास्थ्य
  • वित्त
  • राजनीतिक दृष्टिकोण
  • विदेशी देशों की यात्रा

आपके द्वारा प्रदान की जाने वाली सभी जानकारी की दोबारा जांच की जाएगी और आपको प्रमाण दिखाना होगा. उदाहरण के लिए, सभी निम्नलिखित दस्तावेज़:

  • पहचान दस्तावेज
  • विवाह/साझेदारी दस्तावेज़
  • रोजगार, शिक्षा और चरित्र के लिए संदर्भ
  • विधेयक
  • बैंक, बचत, ऋण और अन्य क्रेडिट विवरण खातों

---

डिफेंस सरकारी नौकरी गाइडेंस - जोश वीडियो सीरीज

डिफेंस सरकारी नौकरी गाइडेंस सीरीज

हमारी WhatsApp सेवा से जुड़ने के लिए +918375860084 पर “HI” भेजें। वायदा रहा हम आपको केवल काम की खबरें भेजेंगे, स्पैम नहीं।

Jagran Josh की अन्य खबरें

image beaconimage beaconimage beacon