आप ब्राउज़र के पुराने संस्करण का उपयोग कर रहे हैं. MSN का सर्वश्रेष्ठ अनुभव प्राप्त करने के लिए, कृपया किसी समर्थित संस्करण का उपयोग करें.

EESL नोएडा में बनाएगा इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग स्टेशन, अथॉरिटी के साथ किया करार

Zee Business हिंदी लोगो Zee Business हिंदी 09-07-2020 ज़ीबिज़ वेब टीम
© Zee Business हिंदी द्वारा प्रदत्त

ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (Energy Efficiency Services Limited-EESL) ने नोएडा में 100 से अधिक चार्जिंग स्टेशन बनाने के लिए न्यू ओखला इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (नोएडा) के साथ समझौता किया है.

इस समझौते पर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एके त्यागी और ईईएसएल के कार्यकारी निदेशक अमित कौशिक ने दस्तखत किए

इस समझौते के तहत EESL न केवल चार्जिंग स्टेशनों का निर्माण करेगा बल्कि सहायक इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में भी मदद करेगा. नोएडा अथॉरिटी चार्जिंग स्टेशन के जमीन मुहैया कराएगी.

नोएडा में जगह-जगह चार्जिंग स्टेशन (EV charging Stations) खुलने से लोगों के बीच इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदने का आकर्षण बढ़ेगा. 

दोनों संस्थाओं के बीच हुए समझौते को अमलीजामा पहनाए जाने से सालाना प्रति कार 3.7 टन कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी.

इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने की मोदी सरकार की स्कीम फेम इंडिया योजना चरण-दो के तहत भारी उद्योग विभाग ने नोएडा प्राधिकरण को 162 सार्वजनिक ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) चार्जिंग स्टेशन लगाने को मंजूरी दी है.

 ईईएसएल को नोएडा शहर में सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन लगाने की जिम्मेदारी मिली है. ईईएसएल ने अब तक विभिन्न जगहों पर 20 ईवी चार्जिंग स्टेशन लगाए हैं और इसमें से 13 चार्जिंग स्टेशन चालू हो गया हैं. ईईएसएल का कहना है कि शेष 7 स्टेशन भी जल्दी ही शुरू हो जाएंगे.

फेम-2 स्कीम के तहत देश के 62 बड़े शहरों में 2,600 चार्जिंग स्टेशन लगाने का काम ईईएसएल को दिया गया है. 

बता दें कि केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के विनिर्माण और उनके तेजी से इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए फेम इंडिया योजना के दूसरे चरण को पिछले साल मंजूरी दी थी.

ज़ी बिज़नेस LIVE TV देखें:

कुल 10,000 करोड़ रुपये के बजट वाली यह योजना 1 अप्रैल, 2019 से तीन वर्षों के लिए शुरू की गई थी. योजना 1 अप्रैल, 2015 को शुरू की गई थी.

इस योजना का मकसद देश में इलेक्ट्रिक और हाईब्रिड वाहनों के इस्तेमाल को बढ़ावा देना है. इसके लिए लोगों को इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में शुरूआती स्तर पर प्रोत्साहन राशि देने और इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के लिएआधारभूत ढांचा तैयार करना है.

More from Zee Business हिंदी

image beaconimage beaconimage beacon